संचालक पशुचिकित्सा सेवाये ने बेमेतरा मे गौठानों एवं संस्थाओं का किया निरीक्षण,चारागाह एवं वर्मी कम्पोस्ट निर्माण का किया मुआयना।

BY: TRACKCG EDITOR
19-SEP-2021 ,SUNDAY (4 WEEKS AGO)

बेमेतरा-प्रदेश सरकार के नव पदस्थ संचालक पशुचिकित्सा सेवायें श्रीमती चंदन संजय त्रिपाठी ने कल बेमेतरा जिले का भ्रमण किया।


संवाददाता पुष्पराज मराठा

भ्रमण के दौरान सर्वप्रथम ग्राम बोहारडीह वि.ख. बेरला में राज्य डेयरी उद्यमिता विकास योजना अंतर्गत लाभान्वित हितग्राही श्री बंशी लाल वर्मा एवं श्री मानसिंह वर्मा के डेयरी का अवलोकन किया, श्री मानसिंग वर्मा ने बताया कि वर्ष 2017-18 में राज्य डेयरी उद्यमिता विकास योजना अंतर्गत 12 लाख रू. का ऋण स्वीकृति से डेयरी स्थापित किया जिसमें रूपये 6 लाख का अनुदान मिला है वर्तमान मे उनके पास 70 दुधारू पशु सहित कुल 130 पशु हैं, डेयरी से प्रति दिन 300 लीटर दुध उत्पादन हो रहा है । जिसे रायपुर मे 60 रू . प्रति लीटर की दर से विकय करते हैं। उनहोने यह भी बताया की पशुओं को हरा चारा हेतु 5 एकड में ज्वार, एक एकड में नेपियर, 7 एकड मे मक्का लगाया है। इसके अतिरिक्त गन्ने के अवशेष को भी चारा के रूप में उपयोग करते हैं संचालक के द्वारा आदर्श गौठान सांकरा में भी भेट दिया गया जहा पर उन्होने गाय की पुजा अर्चना कर गौठान का भ्रमण कर विभिन्न विभागीय गतिविधियों कि जानकारी ली। उनके द्वारा विभागीय बकरा वितरण, बैकयार्ड कुक्कुट ईकाई एवं वर्मिकम्पोस्ट निर्माण तथा चारागाह अवलोकन किया गया। गौठान प्रबंधन समिति ने बताया कि उनके द्वारा 1600 क्वि . वर्मिकम्पोस्ट बेचकर एक लाख 63 हजार रू. की आय अर्जित किये। सांकरा गौठान मे लगभग 5.5 एकड का चारागाह विकसित किया गया, जिसमें 3 एकड मे ज्वार, 1.5 एकड मे नेपियर, 1 एकड मे पैराग्रास सहित 680 वृक्षारोपण भी किया गया। संचालक द्वारा गौठान भ्रमण के दौरान निर्देशित किया गया कि गौठानो मे मल्टीएक्टीविटी को बढावा दे तथा चारागाह के लिये अतरिक्त जमीन पर भी चारागाह विकसित करने कि आवश्यकता है। ग्राम ठेलका वि.ख. साजा मे गौठान का निरीक्षण अवलोकन किया, उडान समुह को प्रदायित कडकनाथ कुक्कुट ईकाई तथा एन.एल.एम. अन्तर्गत प्रदायित रूरल बैकयार्ड गोटरी युनिट, बाडी विकास समूह के द्वारा उत्पादित साग सब्जी तथा हरिहर महिला समूह द्वारा विकसित चारागाह का अवलोकन किया संचालक द्वारा पशुचिकित्सालय साजा का निरीक्षण के दौरान विभिन्न अभिलेखो एवं भडार का अवलोकन किया गया तथा निर्देशित किया गया कि संस्था कि समूचित साफसफाई के साथ अभिलेखो का संधारण भी व्यवस्थित रूप से करने के निर्देश दिये साथ ही संस्था मे नियमित रूप से उपस्थित रह कर कार्य संपादन के निर्देश दिये।
भ्रमण के अंत में जनपद पंचायत सभाकक्ष साजा मे बेमेतरा जिला के पशुचिकित्सा सहायक शल्यज्ञ एवं पशुचिकित्सा क्षेत्र अधिकारी की समीक्षा ली गयी। बैठक के दौरान विभाग के प्राथमिकता बिन्दुओ नरवा गरवा घुरव अउ बाड़ी के तहत कृत्रिमगर्भाधान एवं टैगिंग को सर्वाेच प्राथमिकता के साथ करने के निर्देश दिये गये इसके साथ ही विभिन्न व्यक्तिमूलक योजनाओं का कियान्वयन कलस्टर मे स्व सहायता समूहो के माध्यम से करने हेतु निर्देशित किया गया प्रस्तावित कृत्रिम गर्भाधान एवं टैगिंग सप्ताह मनाने हेतु अधिक अधिक प्रचार प्रसार करने ग्रामवासियों को सम्मलित कर सफल बनाने हेतु विशेष तौर पर निर्देश दिये गये। भविष्य मे औचक निरीक्षण किया जावेगा अतः सभी लोग टीम वर्क के साथ कार्य करे एवं अधिक से अधिक लोगों को लाभान्वित करने का प्रयास किया जावे। निरीक्षण के दौरान उप संचालक पशुधन विकास विभाग बेमेतरा डॉ. राजेन्द्र भगत, पशु चिकित्सक डॉ. अनिल शुक्ला सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।


Create Account



Log In Your Account