जिला शिक्षा अधिकारी पर पालको ने ... निजी स्कूल संचालकों से मिली भगत का लगाया आरोप... शिकायत उपरांत कार्यवाही नहीं सिंद्ध करता आरोप..

BY: TRACKCG EDITOR
03-APR-2021 ,SATURDAY (2 WEEKS AGO)

सेंट फ्रांसिस स्कूल की मनमानी पालकों से फीस लेनें बनाया जा रहा दबाव शिकायत पर कोई कार्यवाही नहीं


गौरव चंद्राकर महासमुंद जिला ब्यूरो 9993257295

जिला शिक्षा अधिकारी पर पालको ने ... निजी स्कूल संचालकों से मिली भगत का लगाया आरोप... शिकायत उपरांत कार्यवाही नहीं सिंद्ध करता आरोप...





पिथौरा / देश के भविष्य कहे जाने वाले नौनिहाल बच्चों की शिक्षा को लेकर कोरेना महामारी जैसे विकराल संकट की स्थिति में लोगों को सहानुभूति की उम्मीद रहती है लेकिन किंतु पालको व बच्चों को आर्थिक और मानसिक प्रताड़ना निजी स्कूल संचालकों से मिल रहा है गौरतलब हो की पुरा मामला छत्तीसगढ़ महासमुंद जिले के पिथौरा विकासखंड क्षेत्र अंतर्गत संचालित सेंट फ्रांसिस स्कूल का है जहां पढ़ने वाले स्कुली बच्चों की फीस को लेकर शिकायत पर कोई कार्यवाही नहीं होने से आहत पालकों ने जिला शिक्षा अधिकारी पर आरोप लगाया है कि निजी स्कूल से मिलीभगत होने के कारण जिला शिक्षा अधिकारी कार्यवाही करने कोताही बरत रहें हैं

यहाँ यह बताना लाजिमी है कि कोरोना महामारी के चलते वर्ष 2020-21 मे पूरे साल स्कूल बंद रहे जैसे-तैसे स्कूल द्वारा आनलाइन पढाई कराया गया अब परीक्षा के परिणाम को लेकर स्कूल द्वारा पूरा फीस जमा करने का दबाव बनाया जा रहा है। जिसे लेकर पालकों द्वारा अनुविभागीय अधिकारी राजस्व पिथौरा कार्यालय में लिखित शिकायत आवेदन पत्र दिनांक 09/02/2021 को दर्ज कराई थी अनुविभागीय अधिकारी श्री राकेश कुमार गोलछा द्वारा संज्ञान लेते हुए जिला शिक्षा अधिकारी महासमुंद को दिनांक 09/02/2021 पत्राचार करते हुए ज्ञापन क्र.391 मे आवश्यक जांच कर सुनिश्चित कार्यवाही करने का आदेश दिया था किंतु जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा अब तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है।

पालकों के द्वारा इस कोरोना महामारी मे दोहरी मार झेलना पड़ रहा महामारी के चलते काम धंधे की कमी के कारण पैसे की किल्लत और स्कूल द्वारा बंद स्कूल की पूरे फीस जमा करने का दबाव।





कोरोना महामारी में दोहरी मार झेलते पालक



हमारे संवाददाताओं को पालकों ने बताया कि जिला शिक्षा अधिकारी व सरकार के आदेश को अनदेखा करने का खामियाजा नौनिहाल बच्चों एवं पालकों को भुगतना पड़ रहा है।



जिला शिक्षा अधिकारी कार्यशैली संदेह के दायरे में



पिथौरा पालकों के शिकायत आवेदन एवं आरोप के साथ-साथ लोक शिक्षण संचालनालय छत्तीसगढ़ शासन रायपुर ने भी पूर्व में जिला शिक्षा अधिकारियों को आदेश का पालन ना करा पाने को लेकर समस्त संयुक्त संचालक लोक शिक्षण छत्तीसगढ़ व समस्त जिला अधिकारी छत्तीसगढ़ दिनांक 27/03/2021 को पत्र जारी किया गया था। पत्र मे विद्यालय फीस समिति के गठन की कार्यवाही पूर्ण नहीं करने वाले अशासकीय विद्यालय को नोटिस जारी करने संबंधित पत्राचार किया गया था। 27/03/2021 के पूर्व शिक्षण संचालनालय रायपुर द्वारा 04/02/2021व पत्र क्र./अनुदान/मान्यता/748 दिनांक 20/02/2021 जिला शिक्षा विभाग को भेजा गया था किंतु जिला शिक्षा अधिकारी प्रशासन व सरकार के आदेश को अनदेखा करने का खमियाजा बच्चों के पालक को भुगतना पड़ रहा है





पालक संघ द्वारा जिला शिक्षा अधिकारी को जांच कर कार्यवाही करने संबंधित पत्राचार किया है - अनुविभागीय अधिकारी(रा)पिथौरा, जिला महासमुंद



सरकार के अधिकारी कर्मचारी सरकार की बात नहीं मान रहे हैं तो हमारी शिकायत का क्या महत्व रह जाता है महामारी और सरकारी दोनों को झेलना पड़ेगा - पालकगण, पिथौरा



शिक्षा विभाग को करनी चाहिए पहल



बच्चों - पालकों और स्कूल के बीच कोरोना काल के समय की फीस को लेकर चल रहे विवाद का समाधान शिक्षा विभाग द्वारा ही किया जा सकता है। स्कूल द्वारा पूरी फीस जमा करने का दबाव बनाया जा रहा है फीस मे कटौती कर समाधान किया जा सकता है किन्तु स्कूल द्वारा विभिन्न मद को जोड़कर भारी भरकम फीस मांगी जा रही है,जिसे इस काल में आर्थिक रूप से कमजोर पालकों को मानसिक तनाव झेलना पड़ रहा है, फीस में समय अनुसार समायोजन कराने अधिकारियों को त्वरित कार्रवाई की जाने जरूरत है,जिससे बच्चों की शिक्षा के मौलिक अधिकारों का हनन न हो ।


Create Account



Log In Your Account